2 दिन बाद बदल जाएगा Online Payment करने का तरीका

भारतीय रिजर्व बैंक का मानना है कि ग्राहकों की क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड की जानकारियां लीक हो जाती है।

ग्राहकों की जानकारियां लीक होने से उनके साथ फ्रॉड होने तथा पैसे चोरी होने का खतरा रहता है।

अक्टूबर महीने में रिजर्व बैंक ऑनलाइन पेमेंट को लेकर कई बदलाव करने वाला है।

अगर आप क्रेडिट या डेबिट कार्ड से पेमेंट करते हैं तो आप का भुगतान करने का तरीका बदल जाएगा।

आपको बता दें कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया का कार्ड-ऑन-फाइल टोकनाइजेशन नियम लागू होने वाला है।

यह नियम लागू होने के बाद कोई भी पेमेंट कंपनी आपके क्रेडिट या डेबिट कार्ड का डाटा स्टोर नहीं कर सकेगी।

Online Payment लेने के बदले में कंपनियों को एक वैकल्पिक कोड देना होगा जिसे टोकन नाम दिया गया है। 

टोकनाइजेशन सिस्टम लागू होने के बाद पेमेंट कंपनियों को आपके कार्ड के बदले टोकन देना होगा।

ऑनलाइन पेमेंट करते समय आपको अपना कार्ड देने की बजाय सिर्फ यूनिक टोकन उपयोग करना होगा।

इस सुविधा का लाभ लेने के लिए यूजर्स को किसी भी तरह का एक्स्ट्रा चार्ज नहीं देना होगा।

अब तक आपने जो भी ऑनलाइन पेमेंट किया है उन कंपनियों को 30 सितंबर 2022 के बाद लोगों के डेबिट और क्रेडिट कार्ड के डाटा को मिटाना होगा।

अपनी गर्लफ्रेंड की फ़ोन लोकेशन कैसे पता करे, जानने के लिए क्लिक करें