मेरी दर्द भरी प्रेम-कहानी | True Sad Love Story In Hindi 2022

मेरी दर्द भरी प्रेम-कहानी | True Sad Love Story In Hindi 2022 – दोस्तों, आज की यह लव स्टोरी आपको बहुत पसंद आएगी। अगर आपने अपने जीवन में किसी से सच्चा प्यार किया है, तो इस लवस्टोरी को पढ़कर आपकी आंखों में आंसू जरूर आएंगे। मुझे उम्मीद है कि आपको मेरी यह लव स्टोरी बहुत पसंद आएगी। इस स्टोरी में मेरा नाम विक्रम है और लड़की का नाम प्रीति है।

मेरी दर्द भरी प्रेम-कहानी | True Sad Love Story In Hindi 2022 –

एक लड़की के प्यार में मुझे धोखा मिला था लेकिन शायद आज भी उस लड़की और उसकी बातों को भुला नहीं पाया हूं तो आइए जानते हैं इस लव स्टोरी में मेरी पूरी कहानी।

उस समय में कॉलेज में पढ़ाई करता था। आप लोग अच्छी तरह से जानते हैं कि कॉलेज में पढ़ाई कम बल्कि इश्क मोहब्बत ज्यादा होती है। अधिकतर लड़कों की लव स्टोरी की शुरुआत कॉलेज से ही होती है। मैं पढ़ाई में काफी होशियार था लेकिन लड़कियों के मामले में भी कम नहीं था। कॉलेज में पढ़ाई करते हुए मुझे लगभग एक माह बीत गया था। एक दिन मेरी मुलाकात प्रीति से हुई। True Sad Love Story In Hindi

प्रीति भी पढ़ने में काफी होशियार थी और उससे बातचीत के दौरान पता चला कि वह अपने भविष्य को लेकर बहुत चिंतित थी। मैंने प्रीति से अच्छे व्यवहार से बातचीत की थी। धीरे-धीरे काफी दिन गुजर गए और वह लड़की भी मुझ पर विश्वास करने लग गई थी। कई दिन गुजर जाने की वजह से हम दोनों अच्छे दोस्त बन गए थे। कॉलेज के सभी लोग हम हम दोनों को एक दूसरे का प्रेमी सोचते थे लेकिन हकीकत में हमारे बीच दोस्ती के अलावा कुछ भी नहीं था।

लगातार कई दिन साथ रहने की वजह से मेरा प्रीति से काफी लगाव हो गया था। मुझे अंदर से महसूस हो रहा था कि मैं प्रीति से प्यार करने लगा हूं। एक दिन मैं और प्रीति गार्डन में बैठे हुए थे। तभी मैंने उसको अपने प्यार का इजहार किया लेकिन उसने इंकार कर दिया और मुझे समझाया कि प्यार के चक्कर में पड़ने से हम दोनों की जिंदगी खराब हो जाएगी। और प्रीति ने कहा – अगर मैंने तुम्हारे प्यार को अपना लिया तो तुम खुद भी पढ़ाई नहीं कर पाओगे और ना ही मुझे पढ़ाई करने दोगे। True Sad Love Story In Hindi

मुझे प्रीति की बात सुनकर काफी गुस्सा आया और मैं वहां से उठकर अपनी क्लास के अंदर चला गया। मैं क्लास के अंदर बैठकर सोच रहा था कि आखिर प्रीति ने जो बात कही है वह भी बिल्कुल सच है। हम दोनों के प्यार करने से हमारी पढ़ाई पर सबसे अधिक असर पड़ेगा। उसके बाद मैंने नीति से बातचीत करना बंद कर दिया और सिर्फ अपनी पढ़ाई पर ध्यान देने लगा। जब भी प्रीति मुझसे बातचीत करने की कोशिश करती तो मैं कोई ना कोई बहाना लगाकर वहां से निकल जाता था।

मैंने सोच लिया था कि इस बार मुझे पूरी क्लास में पहले स्थान पर आना है और दिल और दिमाग से अपनी पढ़ाई करने लगा। एक दिन में क्लास के अंदर अकेला ही बैठा हुआ था तभी प्रीति वहां आ जाती है और मुझसे बातचीत करने लगती हैं। मैं प्रीति की बातें सुन रहा था लेकिन कोई भी जवाब नहीं दे रहा था। तभी प्रीति ने कहा – क्या यार! आज भी उस बात को लेकर नाराज हो रहे हो? True Sad Love Story In Hindi

मैं – मैं कहां नाराज हूं? लेकिन आजकल पढ़ाई के आगे बातचीत करने का समय ही नहीं मिलता है।

प्रीति – जब भी मैं तुम से बातचीत करने की कोशिश करती हूं। तुम अपनी नजरें चुराकर वहां से चले जाते हो।

इसके बाद मैं और प्रीति फिर से दोस्त बन गए लेकिन मैं पहले की तरह उससे हंसी मजाक नहीं करता था। सब कुछ अच्छा चल रहा था। एक दिन प्रीति अपने दोस्तों के साथ पार्क में बैठी हुई थी। मैं भी उनके पास पहुंच जाता हूं। तभी अचानक प्रीति मेरे पास आकर खड़ी हो जाती है और मुझे प्रपोज कर देती हैं। मुझे बिल्कुल भी यकीन नहीं हो रहा था कि जिस लड़की को मैं शुरू से प्यार करता था। वह आज मुझे प्रपोज कर रही है। मैंने उसके प्यार को स्वीकार किया और उसे गले से लगा लिया। True Sad Love Story In Hindi

प्रीति के प्यार को पाकर मुझे काफी खुशी हो रही थी। धीरे-धीरे हमारे प्यार को काफी दिन गुजर गए थे। कॉलेज के सभी लोग प्रीति को भाभी के कर बुलाने लगे। प्रीति को भाभी कहकर बुलाने की बात से वह काफी नाराज हो जाती थी लेकिन मैं किसी भी तरह से उसे मना लेता था। एक दिन मैंने पार्क में प्रीति का हाथ पकड़ लिया और कहा क्या तुम मुझसे सच में ही प्यार करती हो। मेरी बात सुनकर वह जोर-जोर से हंसने लगी। थोड़ी देर में प्रीति के सभी दोस्त इकट्ठा हो गए।

मैंने कहा – प्रीति! पागल हो गई हो क्या? सभी लोग हम दोनों को देख रहे हैं।

थोड़ी देर बाद प्रीति ने कहा – मेरा हाथ छोड़ो। मैं तुमसे कोई प्यार नहीं करती हूं। थोड़ा सा मजाक क्या किया तुम तो सीरियस ही हो गए।

तभी मैंने कहा – मैं तुमसे अपनी जान से भी अधिक प्यार करता हूं और तुम ऐसे मजाक समझ रही हो। True Sad Love Story In Hindi

इतने में प्रीति मेरे गाल पर एक जोरदार थप्पड़ जड़ देती है और अपने दोस्तों से कहती है मैंने प्यार का नाटक क्या किया। यह तो मेरे गले ही पड़ गया है।

इतनी बात सुनकर मेरी आंखों से आंसू निकल आए और मैं पार्क में ही बैठ गया। इधर प्रीति के सभी दोस्त मेरी ओर देखकर जोर-जोर से हंस रहे थे। उसकी की बातें सुनकर मेरा दिल टूट चुका था। मैं फिर से खड़ा होकर प्रीति के पास गया और कहने लगा – प्रीति! इन सब से कह दो की जो पहले बोला था वह बिल्कुल झूठ था।

प्रीति – मैं झूठ नहीं था। क्या तुम्हारे समझ नहीं आता है। उसकी बातें सुनकर मैं आंखों में आंसू लिए वहां से चला जाता हूं। True Sad Love Story In Hindi

उस दिन के बाद मैंने सोच लिया था कि आज के बाद जीवन में किसी भी लड़की की तरफ आंख उठाकर नहीं देखूंगा। अब मेरे दिल में उस बेवफा लड़की के लिए कोई भी जगह नहीं थी और ना ही मैं उसकी जिंदगी में दोबारा जाना चाहता था। कुछ ही दिनों बाद मेरी परीक्षाएं शुरू हो जाती है। मैंने कॉलेज जाना बिल्कुल बंद कर दिया था और घर से ही अपनी पढ़ाई कर रहा था। जब मेरी परीक्षा का रिजल्ट आया तो मैं क्लास के अंदर फर्स्ट आया था।

कॉलेज की छुट्टियां चल रही थी। हमारे घर के सभी सदस्य घूमने के लिए बाहर गए थे लेकिन मैंने जाने से मना कर दिया। मुझे प्यार में धोखा मिलने की वजह से मैं घर से भी बाहर नहीं निकलता था और हमेशा प्रीति की ही बातों के बारे में सोचता रहता था। लगभग 3 साल बाद कॉलेज की पढ़ाई खत्म हो जाती है। घर की जिम्मेदारी होने की वजह से जॉब करने के लिए जयपुर शहर चला जाता हूं। जैसे ही मैंने ऑफिस के अंदर प्रवेश किया तो सामने एक लड़की को देखता हूं। True Sad Love Story In Hindi

जैसे ही मैं नजदीक गया तो पता चला कि मेरे सामने प्रीति खड़ी हुई थी। मुझे बिल्कुल भी यकीन नहीं हो रहा था कि 3 साल बाद भी प्रीति से मुलाकात होगी। प्रीति मेरी ओर ही देख रही थी लेकिन मैं बिना उसकी ओर देखे अपने केबिन के अंदर चला जाता हूं। वह मुझे पहचान चुकी थी लेकिन उसकी बात करने की हिम्मत नहीं हो रही थी क्योंकि मैं ऑफिस में मैनेजर के पद पर था।

काफी देर सोचने के बाद वह मेरे केबिन में आ जाती है और मुझसे बातें करने लगती है। तभी मैं कहता हूं – प्रीति! किस्मत का खेल देखो मैंने कभी सोचा नहीं था कि तुमसे दोबारा मुलाकात हो पाएगी। काफी देर बातचीत करने के बाद मैं किसी काम के लिए वहां से चला जाता हूं। अगले दिन वापस आ कर देखता हूं तो मेरी टेबल पर एक चिट्ठी पड़ी हुई थी। मैंने चिट्ठी को खोलकर पढ़ा तो उसमें लिखा हुआ था – True Sad Love Story In Hindi

मेरे प्रिय विक्रम,

मैंने कॉलेज के समय जो आपके साथ किया था, वह माफी के भी लायक नहीं है लेकिन हो सके तो मुझे माफ कर देना।  मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूं। तुम्हारे कॉलेज छोड़ने के बाद मैंने कई बार तुमसे बात करने की कोशिश की लेकिन तुम्हारा मोबाइल स्विच ऑफ ही आता था। तुम्हारे जाने के बाद मुझे एहसास हुआ कि सच्चा प्यार क्या होता है। मैं तुमसे दूर रहकर कभी भी खुश नहीं रह सकती इसलिए मुझे अपने जीवन का हिस्सा बना लो। तुम्हें पता नहीं कि मैंने तुम्हारे बिना एक-एक पल कैसे निकाला है। मैं कल ऑफिस के कैंटीन में तुम्हारा इंतजार करूंगी। True Sad Love Story In Hindi

तुम्हारी प्रीति

चिट्ठी को पढ़कर में सीधे ऑफिस के कैंसिल पहुंच जाता हूं और देखता हूं कि कुर्सी पर प्रीति बैठी हुई थी। मैं सीधे प्रीति के सामने वाली कुर्सी पर जाकर बैठ जाता हूं और कहता हूं – मैंने तुम्हारी चिट्ठी पढ़ी है लेकिन अब मेरे दिल में तुम्हारे लिए कोई भी जगह नहीं है। क्योंकि मेरी शादी हो चुकी है और मैं अपनी पत्नी से बहुत प्यार करता हूं।

इस बात को सुनकर प्रीति की आंखों में आंसू आने लगे। मैंने कहा – कल मैं यह नौकरी छोड़ कर चला जाऊंगा क्योंकि अगर मैं यहां रहूंगा तो तुम्हें मेरी याद सताएगी। इतनी बातचीत करने के बाद मैं वहां से उठकर अपने केबिन के अंदर जाता हूं और अपना बैग उठाकर कमरे पर चला जाता है। True Sad Love Story In Hindi

मैं बिल्कुल भी नहीं चाहता था कि जो कुछ मेरे साथ कॉलेज में हुआ था वह यहां भी हो, इसलिए मैंने उस नौकरी को छोड़ दिया। मेरा प्यार प्रीति के लिए सच्चा था। आज भी मेरे जीवन का सिर्फ एक ही असूल है जिसने धोखा दिया उसको जीवन में कभी दूसरा मौका नहीं दिया।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles