Bewafa Love Story In Hindi – एक बेवफा लड़की

Bewafa Love Story In Hindi – एक बेवफा लड़की – एक दिन मैं शाम के समय अपने मकान की छत पर इधर उधर टहल रहा था। तभी मेरी नजर एक लड़की पर पड़ी, वह दिखने में बहुत सुंदर लग रही थी। पहली बार मैंने उस लड़की को हमारे मोहल्ले में देखा था इसलिए उससे बात करने की हिम्मत नहीं हो रही थी। धीरे-धीरे मुझे पता चला कि उनका पूरा परिवार हमारे पास वाले मकान में रहने के लिए आया है।

मैं रोजाना की तरह उसे शाम के समय मकान की छत पर चढ़कर देखता था। एक दिन में सुबह के समय मकान से बाहर निकला तो वह लड़की मुझे सामने दिखाई देती है। वह सामने वाली दुकान से कुछ सामान खरीद रही थी। मैं भी उस लड़की को देखकर दुकान पर चला जाता हूं। धीरे-धीरे हम दोनों के बीच बातें होने लगती है। Bewafa Love Story In Hindi

Bewafa Love Story In Hindi – एक बेवफा लड़की –

उस लड़की से बातचीत के दौरान मैंने उससे नाम पूछा तो उसने अपना नाम विशाखा बताया। मैंने कहा – शायद आप इस कॉलोनी में अभी रहने आए हो। तभी उस लड़की ने जवाब दिया – जी हां, हमने अभी नया मकान लिया है। उसके बाद वह लड़की मुझसे पूछती हैं – आपने अपना नाम नहीं बताया। मैंने कहा – मेरा नाम आर्यन है और मैं अपनी पढ़ाई पूरी कर चुका हूं। इस तरह काफी देर बातचीत करने पर मुझे पता चला कि वह लड़की भी कॉलेज में पढ़ाई कर रही है।

बहुत देर बातें करने के बाद विशाखा वहां से अपने घर चली जाती है। खूबसूरत और सुशील लड़की होने की वजह से मैंने उनके घर वालों से अच्छे संबंध बना लिए थे। कभी-कभी मैं और मेरी मां उनके घर चले जाते थे। पारिवारिक संबंध अच्छे बनने की वजह से वह लड़की भी अपनी मां के साथ हमारे घर आती रहती थी। समय गुजरता गया हम दोनों के बीच दोस्ती हो गई। कुछ ही दिनों बाद मेरा जन्मदिन था। Bewafa Love Story In Hindi

मेरा जन्मदिन वाले दिन मैं उनके घर जाकर सबको मेरे जन्मदिन की पार्टी में शामिल होने के लिए निमंत्रण देकर आया। जैसे ही मैं उनके घर से बाहर निकला तो विशाखा गेट पर खड़ी हुई थी। तभी उसने कहा – क्या मुझे निमंत्रण नहीं दोगी? मैंने कहा – आपको ही ढूंढ रहा था लेकिन आप कहीं देखे ही नहीं थे। आपको मेरे जन्मदिन की पार्टी का सबसे स्पेशल निमंत्रण है, जरूर आना मैं आपका इंतजार करूंगा। उसके बाद विशाखा ने कहा – इंतजार करना मैं जरूर आऊंगी। Bewafa Love Story In Hindi

मैं दिनभर अपने जन्मदिन की तैयारी में लगा रहा। शाम के समय बाजार से आने के बाद मैं मकान के अंदर पहुंचा ही था कि कोई दरवाजे की बेल बज रहा था। मैं सामान को कमरे के अंदर रखकर जैसे दरवाजा खोल कर देखता हूं तो विशाखा खड़ी हुई थी। विशाखा काले रंग के सूट और पीले रंग की सलवार में बहुत सुंदर दिख रही थी। वह जैसे ही मेरे पास से घर के अंदर आई तो उसके कपड़ों में लगी हुई परफ्यूम ने मुझे उसका दीवाना बना दिया।

मैंने विशाखा से कहा – आप के कपड़ो में लगी हुई परफ्यूम की पूरे मकान में महक आ रही है। तभी उसने जवाब दिया – तुम्हारा जन्मदिन है इसलिए इतना सज-धजकर आई हूं। इसके बाद में सोफे पर जाकर बैठ जाता हूं और विशाखा मेरी मां के पास कमरे के अंदर चली जाती है। मैं जिस जगह पर बैठा हुआ था वहां से मुझे विशाखा साफ तौर पर दिखाई दे रही थी। मैं विशाखा की ओर देख रहा था तभी वह पीछे की ओर मुड़ जाती है। उसके बाद विशाखा की नजर मेरे ऊपर पड़ जाती है और वह मुझे देखने लगती है। Bewafa Love Story In Hindi

थोड़ी देर बाद में मेरे पास आकर खड़ी हो जाती है और मुझसे कहती हैं – आज तुम्हारा जन्मदिन है लेकिन तुम अभी तक तैयार नहीं हुए हो। अपने कमरे में जाओ और जल्दी से तैयार होकर नीचे आ जाओ। मैंने कहा – चलो तुम्हें भी हमारा मकान दिखा देता हूं। इसके बाद विशाखा मेरे साथ कमरा देखने के लिए ऊपर चली जाती है।

विशाखा मेरे साथ मकान की छत पर टहलने के लिए आ जाती है। थोड़ी देर बाद ही मेरी छोटी बहन अंजलि वहां पर आ जाती है। कुछ देर बातचीत करने के बाद अंजलि और विशाखा नीचे आ जाती है। मैं अपने कमरे के अंदर कपड़े बदल रहा था। तभी अचानक विशाखा वहां पर आ जाती है। अंदर आने के बाद विशाखा मुझसे कहती है – आपने अपने कमरे को बहुत अच्छे तरीके से सजा रखा है। मैंने कहा – सजाने से क्या फायदा, कमरे और मेरी कदर करने के लिए एक लड़की भी तो चाहिए। Bewafa Love Story In Hindi

तभी विशाखा कहती हैं – चलो बताओ तुम्हें कैसी लड़की चाहिए? मैं कहता हूं – जो आपकी तरह सुंदर दिखती हो और मेरी भावनाओ को समझते हो। विशाखा – क्या मैं तुम्हें इतनी सुंदर दिखाई देता हूं जो अपना जीवन साथी मेरे जैसी लड़की ढूंढ रहे हो। मैंने हँसते हुए जवाब दिया – आपके जैसी लड़की मिल जाए तो मेरा जीवन ही सफल हो जाए। इस तरह बातचीत करते हुए मैं कपड़े बदल कर विशाखा के साथ नीचे आ गया था।

थोड़ी देर बाद मेरे दोस्त और मेहमानों का आना शुरू हो गया। मेरा सबसे अच्छा दोस्त जिसका नाम विशाल था, वह भी कुछ ही देर में आ गया। मैं और विशाल अकेले में खड़े होकर एक-दूसरे से बातचीत कर रहे थे। बातचीत के दौरान मैंने विशाल को विशाखा के बारे में सब कुछ बता दिया। उसके बाद मैंने विशाल से कहा – जैसे ही विशाखा कमरे के अंदर जाए तुम लाइट बंद कर देना। विशाल ने कहा – अगर कुछ गलत हो गया तो उसका जिम्मेदार आप होंगे। मैंने कहा – तुम उसकी चिंता मत करो बाकी सारी जिम्मेदारी मेरी है। Bewafa Love Story In Hindi

हम दोनों विशाखा पर निगाहें टिकाए हुए थे। कुछ ही देर में विशाखा किचन के अंदर जाती है और मैं भी उसके पीछे पीछे जाने लगता हूं। पीछे मुड़कर मैं विशाल को लाइट बंद करने के लिए कहता हूं। मेरे अंदर जाने के बाद विशाल लाइट बंद कर देता है। मैंने अंधेरे का फायदा उठाया और विशाखा के नजदीक जाकर उसके गाल पर किस कर लिया। गाल पर किस करने के बाद में तुरंत बाहर आकर खड़ा हो गया और विशाल ने भी लाइट का स्विच ऑन कर दिया। अब विशाखा को बिल्कुल भी समझ नहीं रहा था कि आखिरकार उसके गाल पर किस किसने किया था।

विशाखा इधर-उधर देख कर सीधे मेरी मां के पास चली जाती है। विशाल को घबराहट होने लगी क्योंकि जिस समय मैंने विशाखा के गाल पर किस किया था उस समय मैं और विशाल ही वहां पर खड़े थे। विशाल से घबराने की कोई जरूरत नहीं है। वह पहले से मुझे जानती है और मैं उससे बहुत प्यार करता हूं। कुछ ही देर बाद मेरे जन्मदिन की पार्टी शुरू हो जाती है। Bewafa Love Story In Hindi

सब लोग मेरे जन्मदिन की पार्टी में खुशियां मना रहे थे। मैंने अपने जन्मदिन का केक काटा और सबसे पहले अपने मां को खिलाया। कुछ ही देर बाद मेरे जन्मदिन के प्रोग्राम खत्म हो जाता है और मैंने डांस पार्टी के लिए मकान की छत पर डीजे लगाया हुआ था। मैं अपने दोस्तों के साथ डीजे पर डांस कर रहा था। तभी विशाखा मेरी बहन के साथ वहां पर आ जाती है और मेरा डांस देखने लगती है। डांस करते समय मेरी नजर विशाखा पर पड़ जाती है और मैं उसके पास आकर डांस करने की जिद करने लगता हूं।

काफी देर जिद करने के बाद विशाखा मेरे साथ डांस करने के लिए तैयार हो जाती है। मैं विशाखा की कमर पर हाथ रख कर डांस कर रहा था। उस समय मुझे ऐसे लग रहा था कि मानो मैं अपनी पत्नी के साथ डांस कर रहा हूं। सच कहूं तो मैं विशाखा को अपना जीवनसाथी बनाना चाहता था। काफी रात हो जाने की वजह से मैंने डीजे बंद कर दिया था। सब लोग अपने-अपने घर जा चुके थे। विशाखा भी अपने घर जाना चाहती थी लेकिन मैंने उसे अपने घर ही रोक लिया। Bewafa Love Story In Hindi

बहुत रात हो जाने के कारण सब लोग सो गए थे। मैं और विशाखा मेरे कमरे में बैठकर बातें कर रहे थे। तभी वह मुझसे कहती है – अगर तुम किसी से ना कहो तो मैं तुमसे एक बात कहूं। मैंने कहा – बताओ कौन सी बात है, किसी से भी नहीं कहूंगा। विशाखा कहती है – पहले मेरे पर सिर पर हाथ रखकर कसम खाओ कि तुम इस बात को किसी से भी शेयर नहीं करोगे। तभी विशाखा ने कहा – मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूं लेकिन मैं सोच रही थी कि शायद तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड होगी। विशाखा के मुंह से इतनी बात सुनने के बाद मैं मन ही मन खुश हो रहा था।

मैंने भी विशाखा को लव यू टू कहा और अपने गले से लगा लिया। उसके बाद विशाखा को नींद आने लगी तो मैंने उसको अपनी बहन के पास जाकर सोने के लिए कहा। कुछ देर बाद विशाखा मुझे गुड नाइट कह कर अंजलि के पास जाकर सो गई। मुझे रात भर नींद नहीं आई और मैं सिर्फ विशाखा के बारे में ही सोचता रहा। मैं खुली आंखों से बड़े-बड़े सपने देखने लग गया था। हम दोनों एक दूसरे को हम जान से कभी प्यार करने लग गए थे। Bewafa Love Story In Hindi

हम दोनों एक साथ कॉलेज जाते थे। विशाखा के घर वाले भी मुझ पर बहुत भरोसा करते थे। दिन में कॉलेज में मिलना और रात भर व्हाट्सएप पर चैटिंग किए बिना रहा नहीं जाता था। हमारे प्यार को लगभग 2 साल हो गए थे। समय गुजरता गया तो हमारे प्यार के बारे में विशाखा के घर वालों को पता चल गया। इन 2 सालों में मुझे एक अच्छी जॉब मिल गई थी। घर की परिस्थिति को देखते हुए मुझे जॉब करने के लिए मुंबई जाना पड़ा। मेरे मुंबई जाने के बाद विशाखा काफी उदास हो गई थी। वह जब भी मुझे कॉल करती तो रोने लग जाती थी। Bewafa Love Story In Hindi

एक दिन भी ऐसा नहीं निकलता था जिस दिन मुझे विशाखा कॉल नहीं करती थी। जॉब करते हो मुझे 2 महीने से अधिक हो गए थे। मैं घर आना चाहता था लेकिन मुझे ऑफिस से छुट्टी नहीं मिली थी। कुछ दिनों बाद मैं ऑफिस से बहाना बनाकर घर के लिए रवाना हो जाता हूं। घर आने के बाद में सबसे पहले अपने माता-पिता से मिलता हूं और बाद में विशाखा से मिलने के लिए पहुंच जाता हूं। मुझे देखकर विशाखा बहुत खुश नजर आई थी। वह मुझे सामने खड़ा देखकर बिना कुछ सोचे समझे मेरे गले से लग जाती है।

लगभग 2 दिन विशाखा के साथ गुजारने के बाद मुझे वापस मुंबई जाना पड़ा। अब हम दोनों एक दूसरे का चेहरा देखने के लिए व्हाट्सएप पर वीडियो कॉल से बात करने लगे। एक दिन मैं ऑफिस में काम कर रहा था तभी विशाखा करने कॉल करके बताया कि घरवाले उसकी शादी के लिए लड़का ढूंढ रहे है। विशाखा की बात को सुनकर मैं काफी घबरा गया था। मुझे हमेशा विशाखा की ही चिंता सताने लगी। मैं ऑफिस में अच्छी तरीके से भी काम नहीं कर पा रहा था। मेरा दिल और दिमाग पूरी तरह से विशाखा के बारे में ही सोचता रहता था। Bewafa Love Story In Hindi

अगले दिन मैंने जैसे ही विशाखा को कॉल लगाया तो उसका मोबाइल स्विच ऑफ बता रहा था। मोबाइल स्विच ऑफ होने के कारण मैं समझ चुका था कि विशाखा के साथ गलत हो रहा है। सुबह मैं ऑफिस पहुंचता हूं और बॉस से छुट्टी लेने के बारे में बातें करता हूं। परंतु कंपनी की बहुत छुट्टी देने से मना कर देते हैं क्योंकि उस समय कंपनी पर काम का बहुत दबाव था। मैं निराश होकर केबिन में जाकर बैठ जाता हूं और रोने लग जाता हूं। कुछ ही देर बाद मेरी छोटी बहन अंजली मेरे पास कॉल करके बताती है कि आने वाले 2 दिन के अंदर विशाखा की शादी हो जाएगी।

मैं विशाखा के बिना नहीं रहना चाहता था इसलिए कंपनी में अपना इस्तीफा देने के लिए चला जाता हूं। कंपनी में इस्तीफा पत्र देने के बाद मैं जल्दी में होने की वजह से अपनी बाइक को स्पीड से चला रहा था। तभी मेरा जोरदार एक्सीडेंट हो जाता है लेकिन ईश्वर की कृपा से मुझे थोड़ी बहुत खरोंच ही आई थी। जैसे ही मैंने खड़े होकर देखा तो मेरी बाइक एक्सीडेंट होने की वजह से पूरी तरह से टूट चुकी थी। बाइक की हालत देखने के बाद मैं अपने आप को बहुत खुशनसीब समझने लगा जो इतने बड़े एक्सीडेंट में भी बच गया। Bewafa Love Story In Hindi

किसी भी तरह से मैं घर पहुंचा तो पता चला कि विशाखा की शादी हो चुकी है। शादी की खबर सुनने के बाद मैं टूट चुका था। मैं अपने कमरे के अंदर चला जाता हूं और सिर पकड़ कर बैठ जाता हूं। मेरे जीवन में सबसे बड़ा दुख मुझे आज मिला था और मेरे इस दुख में आंसू पोछने वाला भी कोई नहीं था। मुझे सिर्फ एक बात समझ नहीं आ रही थी कि आखिरकार विशाखा ने मुझे बिना बताए शादी क्यों की थी। मैंने कई बार विशाखा से मिलने की कोशिश की लेकिन उसने मिलने से इनकार कर दिया।

विशाखा से ना मिलने की वजह से मैं बहुत परेशान हो गया था लेकिन फिर आपने आपको हालात से संभाला। लोगों के सामने हंसने का नाटक करता था लेकिन जब भी मुझे विशाखा की याद आती तो अकेले में जाकर रोने लग जाता था। मुझे बिल्कुल भी पता नहीं था कि विशाखा मुझे इस तरह से बीच रास्ते में छोड़कर किसी और का दामन थाम लेगी। आज भी जब मैं उसकी पिछली बातों को याद करता हूं तो आंखों से आंसू बहने लगते हैं। Bewafa Love Story In Hindi

विशाखा के प्यार में मैं पूरी तरह से रोमियो बन चुका था। ना समय पर खाना, ना समय पर नहाना और जॉब को भी छोड़ दिया था। उसके जाने का गम मुझे हमेशा सताते रहता था। विशाखा के जाने के बाद मैंने जीवन में किसी भी लड़की की तरफ आंख उठाकर नहीं देखा। आज मेरी उम्र लगभग 25 साल हो गई है। आज भी मेरे लिए कई तरह की लड़कियों के रिश्ते आते है लेकिन मैं सब को ठुकरा देता हूं क्योंकि मैं शादी नहीं करना चाहता हूं। मैं विशाखा की यादों के सहारे ही अपने जीवन को बताना चाहता हूं। Bewafa Love Story In Hindi

दोस्तों, आपको यह Bewafa Love Story In Hindi पसंद आई हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना बिल्कुल भी ना भूले और हमें कमेंट करके जरूर बताएं। रोजाना इस तरह की नई Hindi Love Story, Bewafa Love Story In Hindi, Collage Love Stories, Sad Love Story In Hindi, Bewafa Love Story In Hindi 2022 पढ़ने के लिए हमारे साथ जुड़े रहे।

Read More – Best Romantic College Love Story In Hindi – कॉलेज की प्रेम कहानी

School Love Story – लव स्टोरी इन हिंदी रोमांटिक

Prakash Bansrota
Prakash Bansrotahttps://www.viagracc.com
We Will Provide Online Earnings, Finance, Laptops, Loans, Credit Cards, Education, Health, Lifestyle, Technology, and Internet Information! Please Stay Connected With Us.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Featured Article

- Advertisment -

Popular Article