भाभी की बहन की लव स्टोरी | Best Real Life Love Story In Hindi - हेलो दोस्तों, यह लव स्टोरी आज से लगभग 1 साल पहले की है। जब मेरे बड़े भाई की शादी तय कर दी गई थी। हमारे घर में शादी की तैयारियां धूमधाम से चल रही थी। भैया की शादी का पूरा प्रोग्राम मैरिज पैलेस में रखा गया था, क्योंकि हमारे मकान में एक साथ कई महमानों के रूकने के लिए व्यवस्था नहीं थी। शादी के दिन हम सब जल्दी तैयार होकर घर से मैरिज पैलेस के लिए रवाना हो जाते है। 

भाभी की बहन की लव स्टोरी | Best Real Life Love Story In Hindi - 

लगभग आधे घंटे बाद मैं अपने परिवार के साथ मैरिज पैलेस पहुंच जाता हूं। मैं गाड़ी से उतर कर सामान को उठाकर कमरे के अंदर ले जा रहा था। तभी मैंने देखा कि एक लड़की मेरी मां के पास आकर खड़ी हो गई थी। जैसे ही मैंने उस लड़के को देखा तो देखता ही रह गया। आंखों पर काजल तथा होठों पर हल्का गुलाबी लिपस्टिक लगाए हुए वह लड़की मेरी मां से बातें कर रही थी। उस खूबसूरत लड़की से मैं भी बातें करना चाहता था, इसलिए मैं जल्दी से अपनी मां के पास जाकर खड़ा हो गया। Real Life Love Story In Hindi

तभी मां ने उस लड़की से कहा - दिव्या! यह मेरा छोटा बेटा विकास है। 

मैंने उस लड़की को हेलो कहा और उसने भी मुझे हाय! कहा।

मैं उस लड़की को देखकर एकदम मदहोश हो गया था। वह लड़की बहुत ही खूबसूरत दिख रही थी। लेकिन मैं समझ नहीं पा रहा था कि वह लड़की कौन है और यहां किसके साथ आई है। थोड़ी देर बाद वह लड़की मेरी मां के पास से चली जाती है तभी मैं अपनी मां से पूछता हूं तो पता चलता है कि वह मेरे भाई की साली है। 

अब मैं फिर से उस लड़की से बातचीत करना चाहता था क्योंकि पहली बार कोई लड़की मेरे दिल को भाग गई थी। इसलिए मैं उस लड़की के आसपास ही खड़ा रहकर उसे देख रहता था लेकिन वह मेरी ओर एक नजर तक नहीं देख रही थी। काफी देर तक खड़ा रहने के बाद मैं वहां से चला जाता हूं और अपने भैया के पास जाकर बैठ जाता हूं। Real Life Love Story In Hindi

कुछ ही देर बाद मेरे पिताजी मुझे कॉल करके बाहर बुलाते हैं और बाजार से कुछ सामान लेने की कहते हैं। उस समय वहां पर मेरे पिताजी के साथ मेरे भैया के ससुर भी खड़े हुए थे। थोड़ी ही देर बाद वह लड़की भी वहां पर आ जाती है। तभी दिव्या के पिताजी ने कहा - बेटा तुम दिव्या को साथ लेकर चले जाओ तुम्हें अकेले सामान उठाने में काफी परेशानी होगी। मैंने कहा - नहीं अंकल कोई दिक्कत नहीं मैं अकेला ही लेकर आ जाऊंगा।

लेकिन दिव्या के पिताजी के बार-बार कहने पर मैं और दिव्या गाड़ी में बैठकर बाजार पहुंच जाते हैं। मैंने पापा के बताए अनुसार सामान खरीदा और गाड़ी में रख दिया। गर्मियों का मौसम था इसलिए मैंने दिव्या से जूस पीने के लिए पूछ लिया। तभी दिव्या ने कहा - नहीं आ में देर हो रही है, वहां पर पापा इंतजार कर रहे हैं।

मैंने कहा - कोई बात नहीं केवल 10 मिनट की बात है। हमारे ठीक सामने ही एक जूस सेंटर की दुकान थी। मैं भागकर वहां से दो जूस लेकर आ जाता हूं और गाड़ी के अंदर ही बैठकर पीने लगते हैं। थोड़ी देर बाद हम दोनों वहां से बैठकर मैरिज पैलेस के लिए निकलते हैं। Real Life Love Story In Hindi

तभी मैंने रास्ते में दिव्या को कहा - आप बहुत खूबसूरत हो? मेरी इस बात पर शरमा गई और बोली आप ही काफी हैंडसम लग रहे हो। मैंने कहा - आप जैसी खूबसूरत लड़कियों के लिए बनना पड़ता है। थोड़ी ही देर बाद हम दोनों मैरिज पैलेस पहुंच जाते हैं। अब दिव्या और मैं एक दूसरे से परिचित हो चुके थे। उसके बाद हम दोनों ने कई देर तक एक साथ डांस भी किया था। वह काफी अच्छा डांस भी करती है और उसका डांस देखकर मैं पूरी तरह से दीवाना बन गया था। 

भैया की शादी के दिन मैंने दिव्या को एक अच्छा मौका देख कर प्रपोज करने की सोचा लेकिन कर नहीं पाया था। कुछ ही दिनों बाद मेरा उसके घर जाना हुआ तब मेरी उससे बातचीत हुई। मैंने काफी सदाचार तरीके से दिव्या से बातचीत की थी और इसी वजह से वह मुझसे काफी खुश थी। इधर भैया की साली होने की वजह से वह मुझसे बहुत ही जल्दी घुल मिल गई और हम दोनों एक दूसरे के अच्छे मित्र बन गए थे लेकिन मैं उसे अपने गर्लफ्रेंड बनाना चाहता था। Real Life Love Story In Hindi

बातों ही बातों में मैंने दिव्या से उसका मोबाइल नंबर ले लिया और उसको अपना नंबर देकर वहां से चला आया। पहले तो उसने मेरा मोबाइल नंबर देने से मना कर दिया था लेकिन मैंने कहा यह फोन भाभी का है। अब आप चाहो तो नंबर लो या मत लो। कुछ ही देर बाद में उनके घर से अपने घर के लिए चला आया। 

इसके बाद में अपनी जॉब के लिए दूसरे शहर चला गया। मैं कभी-कभी उसे व्हाट्सएप के जरिए बातचीत करता रहता था। लेकिन हम दोनों के बीच पारिवारिक बातों के अलावा और कुछ भी बातें नहीं होती थी। करीब दो-तीन महीने तक हमारी इस तरह बातचीत चलती रही। अब हम दोनों खुलकर बातचीत करने लग गए थे। एक दिन मैंने शाम के समय दिव्या को मैसेज लिखा - मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं! अब आगे आपकी इच्छा है।

लगभग 1 दिन गुजर गया लेकिन दिव्या ने किसी भी प्रकार का कोई जवाब नहीं दिया था। अब मैं भी उसे मैसेज करने से डर रहा था। मैंने तुझसे हिम्मत जुटाकर मैसेज भेजा - आपने अभी तक कोई रिप्लाई नहीं दिया है! नाराज हो गई हो क्या? Real Life Love Story In Hindi

थोड़ी देर बाद उसने मुझे मैसेज करके बताया कि वह किसी और से प्यार करती है। उसकी इस बात को सुनकर मुझे काफी गुस्सा आया और मैं चुपचाप अफसोस करते हुए बेड पर जाकर बैठ गए। मैं बैठा हुआ सोच रहा था कि शायद मैंने दिव्या को प्रपोज करने में देर कर दी है। 

मैंने कहा - कोई बात नहीं, मुझे माफ कर देना। इतना मैसेज लिखने के बाद मैं अपना मोबाइल स्विच ऑफ कर देता हूं। अपने मोबाइल फोन को स्विच ऑफ रखे हुए मुझे लगभग 2 दिन हो चुके थे। उसके मना करने के बाद मुझे ऐसा महसूस हो रहा था कि मानों मेरी पूरी दुनिया ही उजड़ गई हो। मैंने किसी भी तरह से अपने दिल को समझा कर मोबाइल का स्विच ऑफ ऑन किया, तब मुझे मम्मी-पापा, भैया-भाभी के अलावा कई लोगों के मैसेज आए हुए थे। 

मैंने सबसे पहले अपनी मां से बात की तब मां ने मुझे किसी काम की वजह से घर बुलाने के लिए कहा। लेकिन मैं घर जाने के लिए तैयार नहीं था। थोड़ी ही देर बाद मेरी भाभी मुझे कॉल करके बताती है कि आपके लिए एक लड़की का रिश्ता है, इसलिए आपको सब लोग घर पर बुला रहे हैं। मैंने भाभी को मना कर दिया कि मैं अभी शादी नहीं करूंगा और ना ही मुझे घर आना है। क्योंकि मैं तो सिर्फ दिव्या से ही प्यार करता था, इसी कारण मैं किसी और लड़की के साथ शादी नहीं करना चाहता था। Real Life Love Story In Hindi

भाभी के द्वारा काफी जिद करने के बाद मैं अपने घर पहुंच जाता हूं। घर जाने के बाद मुझे भाभी ने बताया कि जिस लड़की को तुम अच्छी तरह से जानते हो उसी से ही तुम्हारी शादी होने वाली है। मैं भाभी की बातें सुनकर काफी कंफ्यूज हो गया कि आखिरकार घरवालें किस लड़की से मेरी शादी की बात कर रहे हैं। काफी कोशिश करने के बाद भाभी ने बताया कि आप की शादी मेरी छोटी बहन दिव्या के साथ तय कर दी गई है। 

मैंने भाभी से साफ तौर पर मना कर दिया कि मैं उस लड़की से शादी नहीं करूंगा क्योंकि उसका पहले से ही एक बॉयफ्रेंड है। इस बात को सुनकर भाभी ने मुझसे पूछा - आपसे किसने कहा था?

मैं - आपकी छोटी बहन दिव्या ने! Real Life Love Story In Hindi

भाभी - अरे पागल! तुझे उल्लू बना रही है। दिव्या तुझसे ही प्यार करती है, उसने मुझे पहले ही बता दिया था। लेकिन हमें पता नहीं था कि तुम भी उसे प्रपोज कर चुके हो। 

मैंने कहा - नहीं वो लड़की पागल है और उसके साथ में शादी नहीं करूंगा।

इस तरह बातचीत करते हुए मैं जैसे ही कमरे के अंदर गया तो दिव्या ने मुझे पकड़ लिया और बोली - मैं तुमको पागल नजर आती हूं।

मैं गुस्से में मुझे धक्का मार देती है और मैं बेड पर जाकर गिर जाता हूं। मैं जिस तरह से मुझ पर हमला कर रही थी मानो बीवी को बाजार ले जाने से मना कर दिया हो। मैंने कहा - तुमने मुझसे झूठ बोला था कि तुम्हारा बॉयफ्रेंड है।

दिव्या - मुझे क्या पता था कि तुम इतनी सी बात को लेकर नाराज हो जाओगे। मैं तो सिर्फ मजाक ही कर रही थी।

मैं - जीवन में पहली बार किसी लड़की को प्रपोज किया था और उसने ही मुझे मना कर दिया। Real Life Love Story In Hindi

तभी दिव्या कहा - पागल! तुम्हारे बारे में मैंने सारी जानकारी मेरी बड़ी बहन से हासिल कर ली थी। और तुमको प्रपोज करना चाहती थी लेकिन दीदी ने मना कर दिया था, क्योंकि उस समय आपकी नई जॉब लगी थी और मेरी वजह से आप अपनी नौकरी की ओर ध्यान नहीं दे पाते।

मैंने कहा - चलो कोई बात नहीं, अब कुछ ही दिनों में तुम मेरी बीवी बनने जा रही हो, तो कम से कम एक किस ही दे दो।

दिव्या - नहीं, शादी से पहले कुछ भी नहीं होगा।

मैं - यार एक किस में क्या हो जाएगा। इतना कहने के बाद में बेड पर उल्टा लेट जाता हूं। थोड़ी ही देर बाद दिव्या मेरे ऊपर आकर बैठ जाती है और मुझे किस कर लेती है। मैंने जैसे ही दिव्या को किस करने की कोशिश की वह मुझसे दूर हो जाती हैं। Real Life Love Story In Hindi

भैया भाभी के अलावा किसी को भी पता नहीं था कि हम पहले से ही एक दूसरे से प्यार करते हैं। अब हमें किसी भी प्रकार का कोई डर नहीं था क्योंकि कुछ ही दिनों के अंदर हमारी शादी होने वाली थी। लगभग एक महीने बाद हमारी शादी का शुभ मुहूर्त निकला था। मुझे फिर से कम से कम 20 दिन के लिए फिर से जॉब पर जाना पड़ा। अब मुझे यह बीस दिन काफी परेशानी दे रहे थे क्योंकि मैं अब उसके बिना एक पल भी दूर नहीं रहना चाहता था। 

जैसे-तैसे दिन निकलते गए और आखिरकार वह दिन भी आ गया जिस दिन मुझे घर आना था। मैं ऑफिस से निकल कर अपने कमरे पर गया और वहां से मैंने जल्दी में सामान तैयार किया और घर के लिए रवाना हो गया। मुझे शादी से अधिक दिव्या से मिलने की जल्दी हो रही थी। शादी के इन दिनों में हम दोनों ने खूब आनंद उठाया क्योंकि हम पहले से ही एक दूसरे को भलीभांति जानते थे। आज भी दिव्या और मैं एक दूसरे से अपनी जान से अधिक प्यार करते हैं।  Real Life Love Story In Hindi

Read More - स्कूटी वाली गर्लफ्रेंड की लव स्टोरी - Top Love Story In Hindi 2022

एक रोमांटिक फेसबुक की कहानी Untold love Story in Hindi